☰ Menu    

केरल में बारिश रुकी लेकिन बाढ़ की त्रासदी बरकरार, 10 दिन में 197 की मौत

94 साल की सबसे भयानक बाढ़ का सामना कर रहे केरल में जलप्रलय के साथ ही इंसानियत का सैलाब भी देखने को मिल रहा है. राज्य की पुलिस और प्रशासनिक अमले के साथ ही सामाजिक संस्थाएं लोगों के बचाव और राहत में जीजान से लगे हुए हैं. वहीं कोच्चि स्थित नौसेना के हवाईअड्डे से व्यावसायिक विमानों का परिचालन आज से शुरू हो गया. आज सुबह एयर इंडिया का पहला विमान बेंगलूरू से यहां पहुंचा. भारी बारिश और बाढ़ के चलते कोच्चि अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर परिचालन 26 अगस्त तक बंद है ऐसे में नौसेना के हवाईअड्डे से छोटे विमानों का संचालन किया जा रहा है.

केरल में इस बीच कई दिनों के बाद विमान सेवा शुरू हुई है. कोच्चि एयरपोर्ट बाढ़ के पानी की वजह से पूरी तरह डूब गया था, जिसके बाद अब नेवल एयर स्टेशन पर विमान सेवा को शुरू किया गया है. अब लगातार कमर्शियल फ्लाइट सेवा जारी रहेगी, अधिकतर फ्लाइट बेंगलुरु और कोयंबटूर से उड़ान भरेंगी.बाढ़ से आई आफत के बीच राहत की खबर ये है कि सभी जिलों में जारी किया गया रेड अलर्ट अब वापस ले लिया गया है. मौसम विभाग ने आने वाले दिनों में भारी बारिश से राहत का दावा जरूर किया है. लेकिन आपदा के इस दौर से केरल में जान-माल का जो नुकसान हुआ है, उससे केरल और वहां के रहने वालों का जीवन पटरी पर लौटने पर काफी समय लग सकता है. जबकि इडुक्की, कोजीकोड, कन्नूर में येलो अलर्ट जारी है.

मौसम विभाग के मुताबिक केरल में इस मानसून में सामान्य से 42 फीसदी ज्यादा बारिश हुई है. वहीं सर्वाधिक प्रभावित जिले इडुक्की में सामान्य से 92 फीसदी ज्यादा और पलक्कड में समान्य से 72 फीसदी ज्यादा बारिश हुई है.

साभार








Leave a Reply