☰ Menu    

राफेल डील पर अंबानी ने राहुल गांधी को लिखी चिट्ठी,कहा - कांग्रेस की जानकारी गलत

पत्र में कहा गया है कि उनके प्रति दुर्भावना रखने वाले कुछ निहित स्वार्थी तत्वों और कार्पोरेट प्रतिद्वंद्वियों ने इस सौदे पर कांग्रेस पार्टी को 'गलत, भ्रामक और भटकाने वाली जानकारी दे रहे हैं.' अंबानी ने इससे पहले दिसंबर में इस मुद्दे पर गांधी को पहली बार पत्र लिखा था. समूह की ओर से जारी बयान के अनुसार अंबानी ने पत्र में कहा है कि भारत जो 36 राफेल जेट विमान फ्रांस से खरीद रहा है उन विमानों के एक रुपये मूल्य के एक भी कलपुर्जे का विनिर्माण उनके समूह द्वारा नहीं किया जाएगा.अनिल अंबानी ने कहा कि बताया जा रहा कि रक्षा मंत्रालय ने रिलायंस समूह की कंपनी को 36 राफेल विमानों का कॉन्ट्रेक्ट दिया है, जबकि ऐसा नहीं है. यह गलत बताया जा रहा है. बताया जा रहा है कि इसके बाद रिलायंस को हजारों करोड़ का फायदा होने जा रहा है जबकि यह सिर्फ कोरी अफवाह है. उन्होंने कहा कि हमारा भारत सरकार के साथ कोई भी कॉन्ट्रेक्ट नहीं होने जा रहा है. आरोप है कि साल 2015 में राफेल सौदे की घोषणा से दस दिन पहले ही रिलायंस डिफेंस का गठन हआ था. जबकि रिलायंस समूह ने दिसंबर 2014 जनवरी 2015 में ही इसकी घोषणा कर दी थी. उन्होंने कहा कि फरवरी 2015 में ही हमने बस भारतीय स्टॉक एक्सचेंजों को बता दिया था कि हमने कंपनी का गठन कर लिया है.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी लंबे समय से राफेल डील मामले पर मोदी सरकार को घेर रहे हैं. साथ ही उन्होंने मोदी सरकार पर अनिल अंबानी की कंपनी को हजारों करोड़ रुपए का फायदा पहुंचाने का भी आरोप लगाया था. लेकिन अब इस मुद्दे पर बिजनेसमैन अनिल अंबानी ने राहुल गांधी को एक पत्र लिखकर अपने ऊपर लगे आरोपों का जवाब दिया है.

साभार








Leave a Reply