कोरोना मामलों में इटली, चीन से भी आगे निकला अमेरिका, पढ़े

नई दिल्ली (ब्यूरो): अमेरिका में कोरोना वायरस के मामले थमने का नाम नहीं ले रहे हैं और बृहस्पतिवार को यहां एक ही दिन में 16,000 से अधिक मामलों की पुष्टि हुई।

इसके साथ ही कोविड-19 के मरीजों की संख्या बढ़कर 85,088 हो गई जो किसी भी देश के लिए सबसे अधिक है।

कोरोना वायरस पर आंकड़े मुहैया कराने वाली वेबसाइट वर्ल्डोमीटर के अनुसार, अमेरिका ने कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या के मामले में चीन (81,285) और इटली (80,589) को भी पीछे छोड़ दिया है।

कोरोना वायरस माहमारी से लड़ रहे देश को कुछ उद्योगपति घरानों का साथ मिला है। बजाज और गोदरेज ग्रुप ने देश में स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार, जरूरतमंद लोगों को जरूरी सामान की सप्लाई और ग्रामीण इलाकों में आर्थिक सहायता के उद्देश्य से क्रमशः100 करोड़ और 50 करोड़ रुपए की मदद देने का ऐलान किया है।

बजाज ग्रुप के चेयरमैन राहुल बजाज ने कहा कि ‘सरकार के साथ मिलकर काम करने के लिए हमने अपने 200 एनजीओ के नेटवर्क के साथ साझेदारी कर जरूरतमंद लोगों तक सहायता पहुंचाना सुनिश्चित करेंगे।’

कोरोना वायरस माहमारी के देश की अर्थव्यवस्था पर पड़ने वाले असर को देखते हुए रिजर्व बैंक ने बड़ा ऐलान किया है।

रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने जानकारी दी है कि रेपो रेट में 75 बेसिस प्वाइंट और रिवर्स रेपो रेट में 90 बेसिस प्वाइंट की कटौती की गई है। जिसके बाद रेपो रेट की नई दरें घटकर 4.4 प्रतिशत और रिवर्स रेपो रेट की दर घटकर 4 प्रतिशत हो जाएगी।

लॉकडाउन के बावजूद भारत में कोरोना वायरस के मरीज बढ़ते ही जा रहे हैं। 88 नए मामले सामने आए, जिसके बाद देश में कुल मरीजों का आंकड़ा 724 तक पहुंच गया है।

कुल मरीजों में 47 विदेशी भी शामिल हैं। कोरोना वायरस के चलते 17 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं 42 लोग इस घातक बीमारी से ठीक हो चुके हैं।