Prabhat Times
जालंधर। प्रदेश की कांग्रेस सरकार के इशारे पर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष अश्वनी शर्मा व अन्य नेताओं पर पुलिस द्वारा दर्ज किये गए मामलों पर कांग्रेस सरकार को आड़े हाथों लेते हुए भाजपा जालंधर शहरी के अध्यक्ष सुशील शर्मा ने कहा कि कैप्टन अमरिंदर सिंह व उनकी कांग्रेस सरकार बौखला चुकी है, तभी तो ऐसी ओछी राजनीती पर उतर आई हैI
ये आरोप भारतीय जनता पार्टी जालंधर के प्रधान सुशील शर्मा ने पत्रकार वार्ता के दौरान लगाए। इस मौके पर पूर्व कैबिनेट मंत्री, मनोरंजन कालिया, पूर्व विधायक कृष्णदेव भंडारी, प्रदेश प्रवक्ता महेंद्र भगत, पूर्व मेयर सुनील ज्योति, जिला महामंत्री भगवंत प्रभाकर भी उपस्थित थे।
सुशील शर्मा ने कहा कि पंजाब में जहरीली शराब से हुई मासूम लोगों की मौतों, प्रदेश में लॉक-डाउन के दौरान नाजायज शराब की हुई बिक्री तथा प्रदेश के राजस्व को हुए 5600 करोड़ रूपये के घाटे, केंद्र सरकार द्वारा पंजाब की गरीब व जरूरतमंद जनता के लिए भेजे गए राशन वितरन में घोटाले हुए।
भाजपा द्वारा छात्रवृति घोटाला, जहरीली शराब, रेत माफिया, माइनिंग घोटाले, केंद्र द्वारा भेजे गए राशन घोटाले, पी.पी.ई. किट घोटाले तथा जनता को कोविड-19 के दौरान कांग्रेस सरकार द्वारा दी गई बदहाल स्वास्थ्य सुविधाओं के विरुद्ध आवाज उठाने पर कैप्टन अमरिंदर सिंह तथा कांग्रेसी नेताओं ने राजनीतिक द्वेष के कारण बदले की भावना से कांग्रेस सरकार के इशारे पर पुलिस ने भाजपा नेताओं पर मामले दर्ज किये हैं I
जिला अध्यक्ष सुशील शर्मा ने कहाकि कांग्रेसी नेताओं के लिए पंजाब की कांग्रेस सरकार के नियम व कानून अलग हैं और विपक्ष व जनता के लिए अलग I
उन्होंने कहा कि कांग्रेस के नेता उद्धघाटन करें या कोई सभा करें तो उन पर कोई मामला दर्ज नहीं किया जाता और अगर विपक्ष के नेता अपने कार्यकर्ताओं से उनके घर मिलने जाते हैं या वहां बैठ कर बातचीत करते हैं तो उन पर वहां के कांग्रेसी नेता के इशारे पर मामला दर्ज कर दिया जाता हैI
शर्मा ने कहा कि कांग्रेस की कैप्टन सरकार की ऐसी निम्न स्तर की राजनीति से भाजपा का कार्यकर्ता न रुकेगा न झुकेगा और पंजाब व पंजाबियत के हितों के लिए जनता की आवाज को बुलंद करते हुए कांग्रेस सरकार के खिलाफ भाजपा के संघर्ष निरंतर जारी रहेगेI

शर्मा ने कहाकि अब कांग्रेसियों की यह गुंडागर्दी ज्यादा दिनों तक नहीं चलेगी, क्यूंकि जनता अब कांग्रेस के कारनामों के बारे बहुत अच्छी तरह से जान चुकी है और आने वाले चुनाव में इसका जवाब देने की तैयारी कर चुकी हैI
Share the information