Prabhat Times
फिरोजपुर। पंजाब के फिरोजपुर शहर की 17 वर्षीय नाबालिग लड़की से चार लोगों ने सामूहिक दुष्कर्म किया। आरोपी नाबालिग को सूट का नाप लेने के बहाने कार में लेकर गए थे। युवती की हालत खराब होने के कारण उसे सिविल अस्पताल दाखिल करवाया गया है। आरोपियों में एक भाजपा का पूर्व पार्षद भी रहा चुका है। इस नगर निकाय चुनाव में उसने भाजपा छोड़कर वार्ड नंबर 8 से आजाद चुनाव लड़ा था।
मामले की जांच कर रही सब इंस्पेक्टर रजनी बाला ने बताया कि नाबालिग लड़की ने पुलिस को दिए बयान में कहा कि वह झुगे बैंकां वाले के पास से जमाल के पास सिलाई का काम सीखती थी। करीब दो माह पहले जमाल और जीता निवासी अजीत नगर उसे किसी महिला के सूट का नाप लेने का बहाने कार में मनीष कुमार निवासी कसूरी गेट की दुकान में ले गया।
वहां रजत निवासी रेलवे क्वार्टर फिरोजपुर छावनी और मुनीश पहले ही मौजूद थे। इन्होंने पहुंचते ही दुकान का शटर बंद कर लिया। इसके बाद चारों ने उसके साथ बलात्कार किया। इसके बाद कार में उसे बार्डर रोड पर छोड़ दिया गया। चारों ने उसे जान से मारने की धमकियां दी।
पीड़िता ने बताया कि उसके बाद भी आरोपी जीता और जमाल उसे अलग-अलग जगह पर ले जाते थे और उसके साथ बलात्कार करते थे। एक फरवरी को भी जीता और जमाल उसे किसी अज्ञात जगह पर ले जाकर दुष्कर्म किया था। जांच अधिकारी ने बताया कि पुलिस ने मुनीश, जीता, रजत, जमाल के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।

चुनावी रंजिश के तहत फंसाया गया : मुनीश

एक समाचार पत्र (जा.) के मुताबिक इस मामले में मुनीश का कहना है कि सत्ता पक्ष नेताओं के कहने पर उनके खिलाफ पर्चा दर्ज किया है। वोटिंग के दिन 14 फरवरी को वार्ड नंबर 8 में हो रही धांधली को लेकर उन्होंने आवाज उठाई थी। इसी रंजिश के चलते ही उन्हें इस केस में फंसाया गया है।

ये भी पढ़ें

Share the information