Prabhat Times
जालंधर। एक तो कोरोना महामारी और दूसरा पंजाब सरकार की धक्केशाही झेल रहे गरीब व दलित समाज के हितों की खातिर शिरोमणि अकाली दल राज्य भर में प्रदर्शन किए जा रहे हैं।
खुद को दलित व गरीब जनता का हितैषी होने का दावा करने वाली कांग्रेस सरकार का दौगला चेहरा बेनकाब करने के लिए आज क्रमवार धरना प्रदर्शन के दौरान जालंधर में शिअद पंजाब के महासचिव चंदन ग्रेवाल व शहर के अन्य वरिष्ठ नेताओं द्वारा धरना प्रदर्शन किया गया।
इस दौरान पूर्व विधायक सर्वजीत सिंह मक्कड़, जिला प्रधान कुलवंत सिंह मनन, जालंधर इम्प्रूवमैंट ट्रस्ट के पूर्व चेयरमैन बलजीत सिंह नीलामहल, रम्मी, साजन लूथरा, चंदा जी, सागी सहोता, अनमोल शर्मा व अन्य नेता उपस्थित रहे।
इस मौके पर शिरोमणि अकाली दल, पंजाब के महासचिव चंदन ग्रेवाल ने कहा कि कांग्रेस सरकार का दोगलापन अब जनता के सामने आ चुका है।
कोरोना महामारी के कारण दलित और गरीब परिवारों का पोषण मुश्किल में है और ऊपर से राज्य सरकार द्वारा गरीब व दलित वर्ग को दी जाने वाली कई योजनाएं बंद किए जाने के कारण गरीब व दलित समाज खुद को ठगा सा महसूस कर रहा है।
चंदन ग्रेवाल ने बताया कि राज्य सरकार द्वारा पिछले समय में एस.सी., बी.सी. छात्रों के वजीेफे नहीं दिए जा रहे। इसके साथ गरीब जनता के लिए बने नीले कार्ड बंद कर दिए गए। बिजली के बिलों में बढ़ौतरी करके गरीब जनता पर बौझ डाल दिया है।
चंदन ग्रेवाल ने बताया कि सरकार ने पहले वायदा किया था कि गरीब जनता को शगुन स्कीम में 51000 रूपए दिए जाएंगे। ऐसे कई वायदे जो की सरकार द्वारा किए गए वे आज तक पूरे नहीं हो पाए हैं।
चंदन ग्रेवाल ने कहा कि कांग्रेस का असल चेहरा सामने आ चुका है। प्रदर्शन के दौरान कई गरीब व दलित छात्र मनप्रीत, रमन, प्रभजीत व अन्य कई छात्र वहां मौजूद रहे, जि्नहे स्कॉलरशिप बंद कर दी गई।
चंदन ग्रेवाल ने कहा कि कोरोना महामारी के दौरान केंद्र सरकार द्वारा गरीब जनता के लिए राशन व अन्य कई सहाताएं भेजी गई, लेकिन पंजाब सरकार के मंत्री, विधायक गरीब जनता के लिए आया राशन ही डकार गए।
चंदन ग्रेवाल ने कहा कि कोरोना महामारी के दौरान पंजाब में राज्य सरकार गरीब व दलित समाज को मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध करवाने में बिल्कुल असमर्थ रही हैं। उन्होने कहा कि आने वाले समय में कांग्रेस सरकार की धक्केशाही और जन विरोधी नीतियों को जनता के सामने उजागर किया जाएगा।
Share the information