Prabhat Times
जालंधर। दलित समाज के साथ हो रहे अत्याचार के खिलाफ जालंधर की सिटी वाल्मीकि सभा ने भी शनिवार को पंजाब बंद की कॉल का समर्थन किया है।
सिटी वाल्मीकि सभा के प्रधान अमृत खोसला, महासिचव राजेश भट्टी ने ऐलान किया है कि बंद के दौरान सभा तथा समाज के सभी लोग शांतमय ढंग से अपना रोष व्यक्त करेंगे। सिटी वाल्मीकि सभा ने शहरवासियों से सहयोग की अपील की है।
बता दें कि शनिवार को दलित समाज की विभिन्न सभा सोसाइटीयों द्वारा पंजाब बंद की कॉल दी गई थी। इसी विषय पर आज सिटी वाल्मीकि सभा की बैठक प्रधान अमृत खोसला व महासिचव राजेश भट्टी की अध्यक्षता में हुई।
जिसमें सभा के अशोक सौंधी, राज कुमार मट्टू, बॉबी सौंधी, राजू आदिया, राजेश पदम, नऊ सहोता, मन्नी सहोता, विक्की, चेतन संगर व अन्य सदस्य मौजूद रहे।
बैठक के पश्चात प्रधान अमृत खौसला तथा महासचिव राजेश भट्टी ने बताया कि दलित समाज के साथ अत्याचार की घटनाएं लगातार बढ़ रही हैं। केंद्र सरकार इस अत्याचार को रोकने के लिए ठोस कदम नहीं उठा रही।
दलित समाज के प्रति सरकारों के उदासीन रवैये के कारण हर बार अपनी बात सत्ता पक्ष में पहुंचाने के लिए सड़कों पर उतरना पड़ता है।
अमृत खौसला व राजेश भट्टी ने कहा कि दलित समाज के साथ हुए अत्याचार की ज्वलंत उदाहरण हाथरस मामला है। लेकिन अब दलित समाज चुप नहीं बैठेगा।
शनिवार को सुबह 10 से 3 बजे तक की बंद की कॉल को सिटी वाल्मीकि सभा का पूरा समर्थन है।
अमृत खौसला व राजेश भट्टी ने शहरवासियों से अपील की है कि इस बंद में दलित समाज का सहयोग करें। खौसला व राजेश भट्टी ने अपील की है कि बंद के दौरान शांतिपूर्वक ढंग से रोष व्यक्त किया जाएगा।

Share the information