Prabhat Times
गुरदासपुर। पंजाब के गुरदासपुर (Gurdaspur) जिला से बड़ी खबर है। डेरा बाबा नामक में चचेरे भाईयों मे हुए विवाद के बाद ताबड़तोड़ गोलियां चली। दोनों तरफ से चली गोली में चचेरे भाई मौजूदा सरपंच और पूर्व सरपंच की मौत हो गई।
खून संघर्ष की वजह गांव मछराला में शमशानघाट के निर्माण कार्य को लेकर चल रहा विवाद बताया गया है। गोली लगने से एक युवक के घायल होने की भी सूचना है।
फायरिंग में गंभीर युवक को अमृतसर रेफर कर दिया गया है। घटना की सूचना मिलने के बाद थाना डेरा बाबा नानक की पुलिस घटनास्थल पर पहुंची और मृतकों के शव को पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल गुरदासपुर में भिजवा दिया गया।
गांव मछराला में मौजूदा सरपंच मनजीत सिंह द्वारा श्मशानघाट में निर्माण कार्य करवाया जा रहा था। वीरवार सुबह उनकी चचेरे भाई पूर्व सरपंच हरदेव सिंह के साथ श्मशान घाट में घंटे लगाने को लेकर नोकझोंक हो गई।
इस दौरान हुई मामूली तकरार ने खूनी रूप धारण कर लिया। दोनों तरफ से फायरिंग शुरू हो गई। इसके कारण चलते मौजूदा सरपंच मनजीत सिंह की घटनास्थल पर ही मौत हो गई, जबकि पूर्व सरपंच हरदयाल सिंह और उसके बेटे साबी को भी गोली लगी।
घायलों को सिविल अस्पताल गुरदासपुर में भर्ती करवाया गया, जहां से हालत गंभीर होने के चलते दोनों को अमृतसर रेफर कर दिया गया। अमृतसर में पूर्व सरपंच हरदयाल सिंह की भी मौत हो गई। हरदयाल सिंह के बेटे साबी की हालत भी गंभीर बनी हुई है।
उधर, घटना की सूचना मिलने पर थाना डेरा बाबा नानक की पुलिस मौके पर पहुंची और मौजूदा सरपंच मनजीत सिंह के शव को सिविल अस्पताल गुरदासपुर में पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया।
पूर्व सरपंच हरदयाल सिंह के शव को भी गुरदासपुर में लाया गया है। फिलहाल पुलिस द्वारा मामले में मृतकों के परिवारों के बयान कलमबंद किए जा रहे हैं।

ये भी पढ़ें

Share the information