कोरोना मचा रहा है तबाही! महज 10 दिन में ही इतने लाख हुए कोरोना के डेली केस,

Prabhat Times
नई दिल्ली। (Corona Virus India) भारत में कोरोना वायरस की की दूसरी लहर ने सभी को और अधिक डरा दिया है। गुरुवार को कोरोना वायरस ने अब तक के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए और बीते 24 घंटे में पॉजिटिव केसों की संख्या ने दो लाख का आंकड़ा पार कर लिया।
उधर, दिल्ली में भी वीकेंड लॉकडाउन, कर्फ्यु जैसे बड़े फैसला लिए जा सकते हैं। पता चला है कि दिल्ली की सी.एम. अरविंद केजरीवाल द्वारा हाई लेवल मीटिंग की जा रही है।
भारत में कोविड-19 के एक दिन में रिकॉर्ड दो लाख से अधिक मामले सामने आने के बाद इस बीमारी का इलाज करा रहे मरीजों की संख्या 14 लाख के पार चली गई है।
महामारी की शुरुआत के बाद से अब तक का यह सर्वाधिक आंकड़ा है, जब एक दिन में दो लाख से अधिक केस मिले। यहां ध्यान देने वाली बात है कि एक दिन में एक लाख से दो लाख कोरोना केस आने का यह सफर महज दस दिनों में पूरा हुआ जो यह बताने के लिए काफी है कि कोरोना की दूसरी लहर कितनी खतरनाक है।
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के गुरुवार को जारी आंकड़ों के अनुसार, बीते 24 घंटे में कोरोना वायरस के 2,00,739 मामले आए जबकि 1,038 लोगों के जान गंवाने से मृतकों की संख्या बढ़कर 1,73,123 हो गई है। ये नए मामले आने से देश में संक्रमण के मामले बढ़कर 1,40,74,564 पर पहुंच गए हैं।
देश में कोरोना ने पहली बार आज से करीब दस दिन पहले यानी 5 अप्रैल को एक दिन में एक लाख पॉजिटिव केस का आंकड़ा छुआ था। बता दें कि कोरोना की दूसरी लहर महाराष्ट्र, दिल्ली और यूपी समेत कई राज्यों में तबाही मचा रही है।
यह लगातार 36वां दिन है, जब कोरोना के केस लगातार बढ़ रहे हैं। संक्रमण के मामलों में लगातार 36वें दिन वृद्धि हुई है। देश में उपचाराधीन मरीजों की संख्या बढ़कर 14,71,877 हो गई है जो संक्रमण के कुल मामलों का 10.46 प्रतिशत है जबकि स्वस्थ होने वाले लोगों की दर गिरकर 88.31 प्रतिशत रह गई है।
सबसे कम 1,35,926 उपचाराधीन मरीज 12 फरवरी को थे और सबसे अधिक 10,17,754 उपचाराधीन मरीज 18 सितंबर 2020 को थे। इस बीमारी से स्वस्थ होने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 1,24,29,564 हो गई है जबकि मृत्यु दर 1.23 प्रतिशत है।
भारत में कोविड-19 के मामले सात अगस्त को 20 लाख का आंकड़ा पार कर गए थे। इसके बाद संक्रमण के मामले 23 अगस्त को 30 लाख, पांच सितंबर को 40 लाख और 16 सितंबर को 50 लाख के पार चले गए थे।
वैश्विक महामारी के मामले 28 सितंबर को 60 लाख, 11 अक्टूबर को 70 लाख, 29 अक्टूबर को 80 लाख, 20 नवंबर को 90 लाख और 19 दिसंबर को एक करोड़ का आंकड़ा पार कर गए थे।
भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद के मुताबिक, 14 अप्रैल तक 26,20,03,415 नमूनों की जांच की जा चुकी है जिनमें से 13,84,549 नमूनों की जांच बुधवार को की गई। देशव्यापी ‘टीका उत्सव के चौथे दिन बुधवार को रात आठ बजे तक टीकों की 31.39 लाख से अधिक खुराक देने के साथ ही अबतक 11.43 करोड़ लोगों को टीका लगाया गया है।
ये भी पढ़ें