Prabhat Times

नई दिल्ली: देश में कोरोना वायरस का कहर लगातार जारी है। आलम ये है कि लॉकडाउन के बावजूद कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा लगातार बढ़ता ही जा रहा है। वहीं, इस महामारी के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे डॉक्टर्स भी अब खतरा मंडराने लगा है।

IMA के मुताबिक, कोरोना से अब तक 99 डॉक्टर्स की मौत हो चुकी है। जबकि, 1300 से ज्यादा संक्रमित हैं। मामले की गंभीरता को देखते हुए IMA ने रेड अलर्ट जारी किया है।

COVID-19 से 99 डॉक्टर्स की मौत

दरअसल, इस महामारी ने हर तरफ हाहाकार मचा रखा है। हर वर्ग के लोग इस वायरस की चपेट में आने लगे हैं। वहीं, इस वायरस के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे डॉक्टर्स भी अब सुरक्षित नहीं है।

आलम ये है कि डॉक्टर्स भी COVID-19 की चपेट में आकर अपनी जिंदगी से हाथ धो रहे हैं। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) ने का कहना है कि देश में कोविड-19 से अब तक 99 डॉक्टर्स की मौत हो चुकी है, जबकि 1302 डॉक्टर्स संक्रमित हो चुके हैं।

IMA का कहना है कि मरने वालों में ज्यादातर जनरल प्रैक्टिश करने वाले हैं। IMA ने डॉक्टरों और मेडिकल एडमिनिस्ट्रेशन के लिए रेड अलर्ट जारी करते हुए उनसे अपनी सुरक्षा बढ़ाने के लिए कहा है।

IMA ने जारी किया Red Alert

आंकड़ों के मुताबिक, कोरोना से मरने वाले डॉक्टर्स में 73 डॉक्टर्स 50 वर्ष से अधिक उम्र के थे। जबकि, 19 डॉक्टर्स 35 से 50 वर्ष उम्र वर्ग के थे।

वहीं, सात डॉक्टर्स 35 वर्ष से कम आयु के थे। IMA ने कहा कि कोविड-19 के मृत्युदर में कमी लानी है, तो इसे डॉक्टर्स और हॉस्पिटल से ही शुरू करना होगा।

संस्थान का कहना है कि जिस तरह के आंकड़े सामने आए हैं, उससे पता चलता है कि हॉस्पिटल के अंदर नियम और अनुशासन का पालन होना और ज्यादा जरूरी है।

IMA अध्यक्ष डॉ राजन शर्मा का कहना है कि डॉक्टर्स की मौत गहरी चिंता की बात है। उन्होंने कहा कि IMA सर्वश्रेष्ठ वैज्ञानिक तौर तरीका अपनाने की पुरजोर वकालत करता है।

लिहाजा, उन्होंने कहा कि डॉक्टर्स की जिंदगी बचाना बेहद जरूरी है, क्योंकि इस ममहारी के सामने उम्मीद का किरण डॉक्टर्स ही हैं।

देश में तेजी से बढ़ रहे हैं कोरोना के मामले

गौरतलब है कि देश में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है। पिछले 24 घंटे में 32 हजार से ज्यादा कोरोना के नये मामले सामने आए हैं, जबकि 600 लोगों की मौत हो चुकी है।

वहीं, देश में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 10 लाख के करीब पहुंच गया है, जबकि 24 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है।

ये भी पढ़ें

Share the information