Prabhat Times
पठानकोट। भारत के पूर्व क्रिकेटर सुरेश रैना की बुआ के घर हथियारबंद लुटेरो ने हमला कर दिया। पता चला है कि हमले में सुरेश रैना के फूफा की हत्या कर दी गई और बुआ उनके 2 बेटे बुरी तरह से घायल हो गए।
घायलो का ईलाज चल रहा है। जैसे ही पुलिस के पता चला कि जिस परिवार पर हमला हुआ है वह रैना के रिश्तेदार का परिवार है तो उसके बाद पुलिस पर जांच का दबाव बढ़ गया है।
रिपोर्ट के मुताबिक घटना 19 अगस्त की रात की है। रैना की भुआ का परिवार छत पर सोया हुआ था।
लुटेरे मकान में घूसे और छत पर सोए परिवार के सदस्यों पर हमला कर दिया। लोग नींद में होने की वजह से अपना बचाव नहीं कर पाए। घायलों को अस्पताल में भर्ती किया गया है।

इस घटना में सुरेश रैना के फूफा की मौत हो गई है, जबकि उनकी भुआ आशा देवी, उनका 32 वर्ष का बेटा कौशल कुमार और 24 वर्ष के अपिन कुमार समेत अन्य गंभीर रुप से घायल हो गए।
इस घटना के बाद पुलिस और फोरेंसिक टीम घटनास्थल पर पहुंची। मकान की जांच की जा रही है। जांच में पता चला कि मृतक अशोक कुमार की चेकबुक और अन्य दस्तावेज उनके घर से कुछ दूरी पर मिले हैं।
पुलिस की टीम ने हमलावरों की पहचान के लिए डॉग स्क्वॉड की मदद से खोजबीन शुरु कर दी है, किंतु अभी तक कोई सबूत नहीं मिला है।
सुरेश रैना के भाई दिनेश रैना ने कहा कि इतने दिन बीत जाने के बावजूद भी पुलिस अभी तक हत्यारों को नहीं ढूंढ़ पाई है। इस घटना से पूरा परिवार स्तब्ध है।
उन्होंने पंजाब सरकार से मांग की है कि आरोपियों की तुरंत गिरफ्तारी की जाए और उनके खिलाफ कार्यवाही की जाए।
दिनेश ने कहा कि पठानकोट के गांव थरियाल से उनके कुछ रिश्तेदारों का भी फोन आया है, जो अपनी मदद देना चाहते हैं।

सुरैश रैला आईपीएल बीच में छोड़ स्वदेश लौटे

बता दें कि सुरेश रैना जो कि चैन्नई सुपर किंग्स की टीम के सदस्य हैं और आईपीएल में हिस्सा लेने यूएई गये हुए हैं, उनके दौरा बीच में छोड़कर भारत लौट आने की खबर है। इसके पीछे उन्होंने ‘व्य‌क्तिग कारण’ बताया है।
हालांकि यह स्पष्ट नहीं है कि क्या पठानकोट की इस घटना के कारण उन्होंने प्रतियोगिता से बाहर होने का निर्णय किया।
उधर चैन्नई सुपर किंग्स के सीईओ केएस विश्वनाथन ने एक बयान में कहा है कि चैन्नई सुपर किंग्स सुरैश रैना और उनके परिवार के साथ है और समर्थन करती है।
Share the information