Prabhat Times
नई दिल्ली। हैंड ऑफ गॉड के नाम से मशहूर और अर्जेंटीना को वर्ल्ड कप जिताने वाले महान फुटबॉलर डिएगो माराडोना का निधन (Diego Maradona Dead) हो गया है.
वो 60 साल के थे और उनकी मौत की जानकारी अर्जेंटीना फुटबॉल एसोसिएशन ने दी. माराडोना का निधन दिल का दौरा पड़ने से हुआ है.
माराडोना को घर पर ही दिल का दौरा पड़ा था और दो हफ्ते पहले उन्हें दिमाग में क्लॉटिंग भी हुई थी जिसके बाद उनकी सर्जरी करनी पड़ी.
माराडोना एक ओर जहां मैदान पर एक बेहतरीन फुटबॉलर रहे वहीं दूसरी ओर मैदान के बाहर वो कई विवादों की वजह से बदनाम भी हुए.
माराडोना को शराब और नशे की लत पड़ गई थी. अब महज 60 साल की उम्र में उनका निधन हो गया.

1986 में अर्जेंटीना को जिताया वर्ल्ड कप

बता दें माराडोना ने साल 1986 में अर्जेंटीना को फुटबॉल वर्ल्ड कप जिताया था. उनके एक विवादित गोल ने इंग्लैंड को जीत से महरूम कर दिया था.
गोल माराडोना के हाथ से लगकर हुआ था लेकिन रेफरी वो देख नहीं सके और नतीजा अर्जेंटीना वर्ल्ड चैंपियन बना. माराडोना का यही गोल फुटबॉल इतिहास में हैंड ऑफ गॉड के नाम से मशहूर है.

वर्ल्ड कप जिताने के बाद डूबा माराडोना का करियर

वर्ल्ड कप जिताने के अगले साल 1987 में माराडोना ने इटेलियन क्लब नेपोली को सीरिया-ए का चैंपियन बनाया. 1990 में भी माराडोना ने यही कारनामा किया.
1987 में इटेलियन कप और यूएफा कप में भी माराडोना का जादू चला. हालांकि इस दौरान माराडोना को कोकेन लेने की आदत पड़ गई.

उन्होंने 1991 में नेपोली छोड़ दिया और उनपर ड्रग लेने के दोष में 15 महीनों का बैन लग गया. साल 1994 में उन्हें अमेरिका में हुए वर्ल्ड कप से बाहर कर दिया गया.
माराडोना ड्रग टेस्ट में फेल हो गए थे. माराडोना को दिल से जुड़ी बीमारियां साल 1999 में ही लग गई थीं जब उन्हें दो बार अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा था. अब 2020 में माराडोना का निधन भी दिल का दौरा पड़ने से ही हुआ.

ये भी पढ़ें

Share the information