जालंधर के इस ईलाके में Health विभाग की बड़ी Raid, पकड़ा गया “मुन्ना भाई MBBS”

Prabhat Times
जालंधर। इस समय की बड़ी खबर महानगर जालंधर (Jalandhar) से हैं। जिला के हैल्थ विभाग (Health Dapartment) की टीम ने जालंधर के गुरू नानक पुरा वैस्ट में अवैध तरीके से चल रहे तलिवालिया क्लीनिक का भंडाफोड़ किया है। हेल्थ विभाग की टीम ने ‘मुन्ना भाई MBBS’ के अवैध क्लीनिक से हेल्थ विभाग की टीम ने भारी मात्रा में दवाईयां, कैप्सूल, इंजैक्शन बरामद किए हैं। पता चला है कि ये अवैध क्लीनिक सुरिन्द्र नाम का व्यक्ति चला रहा था। लेकिन उसके पास न तो मैडीकल की डिग्री है और न ही दवाईयां बेचने या मरीज़ों को देने का कोई लाईसैंस। हेल्थ विभाग की टीम द्वारा सुरिन्द्र के खिलाफ कार्रवाई जा रही है।
पता चला है कि डी.सी. घनश्याम थौरी को सूचना मिली थी कि गुरू नानक पुरा वेस्ट ईलाके में व्यक्ति द्वारा खुद को डाक्टर बता कर क्लीनिक खोला हुआ और प्रैक्टीस की जा रही है। सूचना मिलने पर डी.सी. घनश्याम थौरी के निर्देशों पर सिविल सर्जन बलविन्द्र सिंह को चैकिंग के निर्देश दिए। जिस पर त्वरित कार्रवाई करते हुए सिविल सर्जन द्वारा जिला हैल्थ अधिकारी डाक्टर अरूण वर्मा, ड्रग कंट्रोल ऑफिसर डाक्टर अमरजीत सिंह द्वारा योजनाबद्ध ढंग से क्लीनिक पर रेड की गई। जांच में पता चला कि ये क्लीनिक सुरिन्द्र द्वारा चलाया जा रहा था।
सुरिन्द्र द्वारा इस क्लीनिक में लोगों को दवाईयां दी जाती थी। लेकिन उसके पास मैडीकल प्रैक्टीस की कोई डिग्री या दवाईयां रखने संबंधी कोई लाईसैंस नहीं है। पता चला है कि क्लीनिक से रेड टीम द्वारा विभिन्न प्रकार की लगभग 30 हज़ार रूपए कीमत की 3930 गोलियां, 670 कैप्सूल, 186 इंजैक्शन बरामद की गई। ये दवाईयां रखने संबंधी भी सुरिन्द्र द्वारा कोई रिकार्ड पेश नहीं किया जा सका। इस अवैध काम को अंजाम देने के लिए ड्रग कंट्रोल ऑफिसर द्वारा ड्रग एवं कोस्मैटिक्स एक्ट के अधीन नोटिस दिया गया है।

ये भी पढ़ें