सिद्धू के इस Tweet से चढ़ा सियासी पारा, ‘आप’ की तारीफ में पढ़े कसीदे

threats
Prabhat Times
चंडीगढ़। पंजाब में क्रिकेटर से राजनीतिज्ञ बने पूर्व मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) ने राज्य के भीतर मुख्यमंत्री के साथ चल रहे मतभेदों के बीच नया दांव खेला है. इस बार उन्होंने आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) के प्रधान भगवंत मान (Bhagwant Mann) का एक वीडियो ट्वीटर पर अपलोड किया है, जिसमें मान सिद्धू की तारीफ करते हुए नजर आ रहे हैं.
सिद्धू ने ट्वीट करके कहा है कि “हमारी विपक्षी पार्टी आम आदमी ने हमेशा पंजाब के लिए मेरे विजन और काम को पहचाना है. 2017 से पहले की बात हो तो बेअदबी, ड्रग्स, किसानों के मुद्दे, भ्रष्टाचार और बिजली संकट का सामना पंजाब के लोगों ने मेरे द्वारा किया या आज जैसा कि मैं “पंजाब मॉडल” पेश करता हूं, यह स्पष्ट है कि वे (AAP) जानते हैं, वास्तव में पंजाब के लिए कौन लड़ रहा है.”
इस वीडियो को अपलोड करने के बाद सिद्धू ने पंजाब में कांग्रेस के नेताओं को तो असमंजस में डाल ही दिया है. साथ में पार्टी हाईकमान में भी एक कंफ्यूजन क्रिएट करने की कोशिश की है. पिछले कुछ दिनों से जब पार्टी हाईकमान पंजाब के पचड़े का हल करने के नजदीक पहुंची थी. इस बीच सिद्धू ने सोशल मीडिया पर फिर इस तरह का संदेश देकर समस्या और बढ़ा दी है.

चर्चाएं तेज

पंजाब कांग्रेस में सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह बनाम नवजोत सिंह सिद्धू की लड़ाई में नया मोड़ आ गया है. कैप्टन की नजरअंदाजी से खफा सिद्धू कांग्रेस को अगले साल होने वाले राज्य चुनाव से पहले झटका देने के मूड में लग रहे हैं. अटकलें हैं कि सिद्धू आम आदमी पार्टी में शामिल हो सकते हैं. अपने ताजा ट्वीट में जिस तरह से वह विपक्ष से मिल रही तवज्जो को लेकर लिख रहे हैं, कम से कम उससे तो कुछ ऐसा ही मालूम हो रहा है.
गौरतलब है कि बीते दिन कांग्रेस विधायक अमरिंदर सिंह राजा वडिंग ने भी सूबे के वित्तमंत्री पर गंभीर आरोप लगाते हुए नया बखेड़ा खड़ा कर दिया. राजा वडिंग ने वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल पर अकालियों को धन बांटने का आरोप लगाते हुए राहुल गांधी से उनके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई करने की मांग कर डाली है. राजा वडिंग ने कहा है कि मनप्रीत बादल की कांग्रेस को कमजोर करने और अकाली दल को मजबूत करने की यह योजना महीनों से चल रही है.
उन्होंने कहा कि राहुल गांधी को अनुशासनात्मक कार्रवाई करते हुए उनका इस्तीफा तुरंत ले लेना चाहिए. फेसबुक पोस्ट पर उन्होंने लिखा कि उन्हें यह जानकर दुख हुआ कि बादल, अकालियों को 15 लाख रुपये के चेक दे रहे हैं. उन्होंने उन लोगों की तस्वीरें भी साझा कीं, जिन्हें पैसे दिए गए थे और कहा कि वे उसी अकाली दल के सदस्य थे, जिसे वित्त मंत्री बादल ने छोड़ दिया था और फिर कांग्रेस में शामिल हो गए थे.

ये भी पढ़ें