Prabhat Times
जालंधर। दलित समाज के हितों की खातिर संघर्षरत पंजाब सफाई मज़दूर फैडरेशन पंजाब के प्रधान चंदन ग्रेवाल ने केंद्र मांग की है कि पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप स्कीम के अंर्तगत फंड तुरंत रिलीज़ किए जाए।
ताकि दलित बच्चे अपनी पढ़ाई बिना किसी अड़चन के पूरी कर सकें। चंदन ग्रेवाल ने दलित समाज के हितैषी होने वाले पंजाब के बड़े राजनेताओं को भी आज आढ़े हाथों लिया।
प्रदेशाध्यक्ष चंदन ग्रेवाल ने बताया कि दलित समाज शुरू से ही विभिन्न सरकारों की राजनीति का शिकार होता आया है। हर बार दलित समाज के लोगों के साथ सरकारें बड़े बड़े वायदे तो करती हैं, लेकिन वे सिर्फ वायदे ही रह जाते हैँ।
चंदन ग्रेवाल ने कहा कि दलित समाज के बच्चो को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। उन्होनें बताया कि पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप स्कीम के तहत केंद्र और पंजाब सरकार द्वारा फंड रिलीज़ नहीं किए जा रहे। स्कूल, कालेज प्रबंधकों को फंड न मिलने के कारण उनके द्वारा बच्चों के डिप्लोमा, डिग्री के दस्तावेज रोक लिए गए हैं।
चंदन ग्रेवाल ने केंद्र व राज्य सरकार को आगाह किया कि जल्द ही इस समस्या का हल निकाला जाए ताकि दलित समाज के बच्चों की भविष्य की पढ़ाई प्रभावित न हो।
चंदन ग्रेवाल ने राज्य व केंद्र सरकार में सत्ता सुख भोग रहे राज्य के दलित नेताओं को आढ़े हाथों लिया। उन्होने कहा कि जालंधर, फगवाड़ा या अमृतसर से जुड़े सांसद और विधायक दलितों के साथ राजनीति करते हैं।
दलितों के हितैषी होने के बड़े बड़े दावे कर वोट तो प्राप्त करते हैं, लेकिन सत्ता में आने के पश्चात दलित समाज के हितों की कोई बात नहीं करता।
चंदन ग्रेवाल ने कहा कि अब ऐसे नेता चाहे वे किसी भी पार्टी के क्यों न हो, उन्हें बेनकाब किया जाएगा। चंदन ग्रेवाल ने कहा कि जल्द ही पंजाब सफाई मज़दूर फैडरेशन द्वारा इस मुद्दे पर सांसद, विधायकों के ज़रिए सरकार तक ज्ञापन दिए जाएंगे। ताकि दलित समाज की आवाज राज्य और देश के हुक्मरानों तक पहुंचे।
लेकिन अगर जल्द ही इस समस्या का समाधान न किया गया तो पंजाब सफाई मज़दूर फैडरेशन द्वारा बड़े स्तर पर संघर्ष छे़ड़ा जाएगा।
Share the information