Prabhat Times

नई दिल्ली। हाल ही में मोदी सरकार ने PUBG सहित 118 चीनी ऐप पर बैन लगा दिया था। भारत में पबजी बेहद पॉपुलर गेम है। लेकिन अब पबजी प्लेयर्स के लिए एक अच्छी खबर है।
पबजी मोबाइल की जल्द ही भारत में वापसी हो सकती है। दरअसल पबजी कॉर्पोरेशन ने चीन के टेनसेंट गेम्स से नाता तोड़ने का फैसला किया है।
मालूम हो कि पबजी मूल रूप से दक्षिण कोरिया में डिवेलप किया गया गेम है। लेकिन इस गेम के मोबाइल वर्जन की फ्रेंचाइजी चीन Tencent Games ने ली है।
पर भारत में चीनी ऐप बैन होने के बाद पबजी की पेरेंट कंपनी ने भारत में पबजी के ऑपरेशंस अपने हाथ में लेने का फैसला किया है और भारत में टेनसेंट गेम्स की फ्रेंचाइजी कंपनी सस्पेंड कर दी है।
टेनसेंट द्वारा नाता तोड़ने के बाद अब उम्मीद है कि भारत में पबजी पर लगा बैन जल्द ही हटाया जा सकता है।

पबजी समेत चीन के 118 अन्य मोबाइल ऐप पर  बैन

सरकार ने लोकप्रिय गेमिंग ऐप पबजी सहित चीन की कंपनियों से जुड़े 118 अन्य मोबाइल ऐप पर बुधवार को प्रतिबंध लगा दिया।
इन्हें भारत की संप्रभुता, अखंडत, सुरक्षा और शांति-व्यवस्था के लिए खतरनाक मानते हुए इन पर पाबंदी लगायी गयी है।
इससे चीन की कंपनियों से संबंधित जिन ऐप पर भारत में प्रतिबंध लगाया गया है, उनकी संख्या बढ़कर अब 224 हो गयी है।
एक आधिकारिक बयान के अनुसार, बुधवार को प्रतिबंधित ऐप में बायदू, बायदू एक्सप्रेस एडिशन, अलीपे, टेनसेंट वॉचलिस्ट, फेसयू, वीचैट रीडिंग, गवर्नमेंट वीचैट, टेनसेंट वेयुन, आपुस लांचर प्रो, आपुस सिक्योरिटी, कट कट, शेयरसेवा बाइ श्याओमी और कैमकार्ड के अलावा पबजी मोबाइल और पबजी मोबाइल लाइट शामिल हैं।

Share the information