पंजाब में इस दिन से शाम 5 बजे के बाद नहीं मिलेगा पैट्रोल-डीज़ल, पढ़ें

available

Prabhat Times

लुधियाना। (punjab petrol pump dealers take decision to close petrol pump) पंजाब में अगले 15 दिन लोगों के लिए मुश्किल हो सकते हैं। अब लोगों को शाम 5 बजे के बाद पेट्रोल-डीजल नहीं मिलेगा। पेट्रोल पंप सिर्फ सुबह 7 से शाम 5 बजे तक ही खुले रहेंगे।
पंजाब पेट्रोलियम डीलर एसोसिएशन की बैठक में यह फैसला लिया गया है। शाम 5 बजे के बाद पैट्रोल डीज़ल नहीं दिया जाएगा। शाम की पैट्रोल डीज़ल की सप्लाई 7 नवंबर से लेकर 21 नवंबर तक शाम से लेकर तड़कसार तक नहीं होगी। साथ ही 22 नवंबर को पैट्रोल पंप बंद करके हड़ताल की जाएगी।
रविवार को पेट्रोल पंप डीलर्स एसोसिएशन, पंजाब लुधियाना में हुई मीटिंग के बाद इसकी घोषणा की गई। इस मीटिंग में जालंधर, पटियाला, फतेहगढ़ साहिब, रोपड़, मोहाली, होशियारपुर, मोगा समेत करीब 50 पेट्रोल पंप मालिकों ने हिस्सा लिया।
बैठक में पेट्रोल पंप संचालकों ने यह भी फैसला दिया है कि अगर तेल कंपनियां एवं सरकार राहत नहीं देती है तो फिर 22 नवंबर को प्रदेश भर के पेट्रोल पंप बंद रखे जाएंगे। एसोसिएशन ने यह फैसला उस समय लिया है जब भारी आर्थिक संकट के चलते कुछ पेट्रोल पंप डीलर आत्महत्या कर चुके हैं और कई डीलर तालाबंदी को मजबूर हो गए हैं।
पेट्रोल पंप डीलर्स का तर्क है कि पेट्रोल एवं डीजल की बिक्री के ऊपर वैट की भारी-भरकम दरें होने की वजह से उनकी बिक्री में 30 फीसद से भी ज्यादा गिरावट आ गई है। सारी बिक्री पड़ोसी राज्यों को चली गई है। गत 4 वर्षों से उनका मार्जिन बढ़ाया नहीं गया है। डीलर को पेट्रोल की बिक्री के ऊपर प्रति लीटर 3 रुपये और डीजल की बिक्री पर प्रति लीटर लगभग 2 रुपये मार्जिन दिया जाता है। इसमें से ही पेट्रोल पंप डीलर्स को सारे खर्च चलाने पड़ते हैं। तेल कंपनियां और सरकार उनकी मांग की तरफ कोई ध्यान नहीं दे रही हैं।
तेल कंपनियों के अधिकारी मात्र बिक्री बढ़ाने के लिए भारी दबाव डाल रहे हैं। जो डीलर खर्च नहीं निकाल पा रहा है। उसकी सप्लाई रोक दी जा रही है। हालात इस कदर बिगड़ चुके हैं कि पीपीडीएपी के प्रवक्ता मोंटी गुरमीत सहगल की तरफ से ही होशियारपुर रोड स्थित पेट्रोल पंप को बंद कर देने पर मजबूर होना पड़ा है।
बैठक को संबोधित करते हुए एसोसिएशन के अध्यक्ष परमजीत सिंह दोआबा ने कहा कि पेट्रोल पंप संचालकों को तत्काल राहत देने एवं बैठक के दौरान हुए फैसलों को बताने के संबंध में तेल कंपनियों, सरकार और तेल एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय को नोटिस भी भेजे जाएंगे। लुधियाना में हुई इस बैठक के दौरान एसोसिएशन के महासचिव डा. मनजीत सिंह समेत प्रदेश भर के डीलर उपस्थित थे।

ये भी पढ़ें