पंजाब में आतंकवादियों, गैंगस्टरों का नेटवर्क ब्रेक, विदेशी हथियारों सहित 6 गैंगस्टर गिरफ्तार, पढ़ें

चंडीगढ़ (ब्यूरो): कोरोना वायरस के कारण लगे कर्फ्यू के बीच भी आतंकवादी गतिविधियां राज्य में जारी हैं। चौकस पंजाब पुलिस ने आज एक आतंकवादियों और गैंगस्टरों के बीच का बड़ा नेटवर्क ब्रेक किया है।

पंजाब पुलिस के ज्वाईंट आप्रेशन में खालिस्तान जिंदाबादा फोर्स के चीफ हरमीत सिंह हैप्पी के नज़दीकी गैंगस्टर बलजिन्द्र सिह उर्फ बिल्ला तथा उसके 6 साथियों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार गैंगस्टरों से पुलिस ने भारी मात्रा में विदेशी हथियारों के खेप, लाखों रूपए की ड्रग मनी तथा विदेशी करंसी बरामद की गई है।

डी.जी.पी. दिनकर गुप्ता ने बताया कि पंजाब पुलिस की स्पेशल टीम ओ.सी.सी.यू., काउंटर इंटेलीजैंस जालंधर तथा कपूरथला पुलिस के ज्वाईंट आप्रेशन के दौरान बलजिन्द्र सिंह उर्फ बिल्ला मंडियाला वासी गुरदासपुर, सुखजिन्द्र सिंह वासी कामोके ब्यास, अमृतसर, कपूरथला के रहने वाले लवप्रीत सिंह उर्फ लवली, मंगल सिंह, मनिन्द्रजीत सिंह उर्फ हैप्पी तथा लवप्रीत सिंह उर्फ लवली वासी वलटोहा, तरनतारन को गिरफ्तार किया।

डी.जी.पी. दिनकर गुप्ता ने बताया कि आरोपी बलजिन्द्र सिंह उर्फ बिल्ला मंडियाला पुलिस को हत्या, हत्या के प्रयास करीब 18 अपराधिक केसों में वांछित है।

डी.जी.पी. दिनकर गुप्ता ने बताया कि गिरफ्तार आरोपियों से बेहद ही बेहतरीन क्वालिटी के विदेशी हथियार बरामद हुए हैं। बरामद हथियार पाकिस्तान से तस्करी कर इन गेंगस्टरों तक पहुंचे हैं।

यू.एस. सीक्रेट सर्विस के सदस्य प्रयोग करते हैं वैपन

डी.जी.पी. दिनकर गुप्ता ने बताया कि गैंगस्टरों से बारमद पिस्टल यू.एस. सीक्रेट सर्विस के सदस्यों द्वारा किया जाता है। जो कि यू.एस. के वी.आई.पी. यानिकि यू.एस. के राष्ट्रपति की सुरक्षाअधिकारियों के पास होता है।डी.जी.पी. ने बताया कि जांच में पता चला है कि अधिकांश हथियार बिला मंडियाला को पाकिस्तान बार्डर पार से मिले हैं। जो कि अलग अलग कंसाईनमैंट के ज़रिए पहुंचे। डी.जी.पी. गुप्ता ने बताया कि बीते साल सितंबर महीने में फिरोज़पुर के मंमडोट एरिया में बरामद ए.के. 74 राइफल के तार भी बिल्ला मंडियाला के साथ जुड़ते नज़र आरहे हैं।

डी.जी.पी. ने बताया कि ओ.सी.सी.यू. के ए.आई.जी. गुरमीत चौहान को सूचना मिली थी कि गैंगस्टर  बिल्ला मंडियाला व उसके साथा कपूरथला एरिया में है। सूचना मिलते ही डी.एस.पी. बिक्रम बराड़, काउंटर इंटैलीजैंस के ए.आई.जी. हरकमलप्रीत सिंह खख तथा जिला कपूरथला के एस.एस.पी. सतिन्द्र सिंह की टीम के ज्वाईंट आप्रेशन के दौरान ये सफलता मिली।

सीमा पार के आतंकियों के सम्पर्क में है बिल्ला मंडियाला

पूछताछ में पता चला कि बिल्ला मंडियाला का सम्पर्क पाकिस्तान के कई ड्रग तथा हथियारों के स्मगलरों मिरज़ा तथा अहमद्दीन के साथ संबंध है। उनके ज़रिए फिरोज़पुर बार्डर एरिया से हथियारों व ड्रग की कई बार खेप मंगवा चुका है। डी.जी.पी. ने बताया कि जांच में पता चला है कि मिर्ज़ा भारत पाक सीमा पर खालिस्तान लिब्रेशन फोर्स के लिए कोरियर का काम करता है। जांच मे ये भी पता चला है कि बिल्ला मंडियाला के पटियाला जेल में बंद गैंगस्टर गुरप्रीत सिंह सेखों के साथ भी संबंध हैं। शक है कि ये गैंगस्टर जर्मन और पाकिस्तान बेस्ड आतंकवादी संगठनो के संपर्क में है। बता दें कि गुरप्रीत सिंह सेखों पहले भी के.एल.एफ. के चीफ हरमिन्द्र सिंह मिंटू के सम्पर्क में रह चुका है।

ये हुई बरामदगी

बरामद हथियारों में 30 बोर के 2 ड्रम मशीन गन, जर्मन मेड 3 पिस्टल, मेड ईन आस्टि्रया के दो ग्लोक पिस्टल, 30 बोर के 2 पिस्टल, 32 बोर का एक पिस्टल, 315 बोर की 1 राइफल, 341 कारतूस, 2 ड्रग मैगज़ीन, 14 पिस्टल मैगज़ीन के साथ साथ ड्रग मनी के 3 लाख की भारतीय करंसी तथा 100 आस्ट्रेलियन डॉलर बरामद किए गए हैं।