Prabhat Times
नई दिल्ली। कांग्रेस पार्टी में अध्यक्ष पद को लेकर चल रहे विवाद के बीच कांग्रेस नेता सोनिया गांधी ने अध्यक्ष पद छोड़ने की बात कही है।
जानकारी के मुताबिक, कल (सोमवार) पार्टी के नेता दल के नए प्रमुख का चुनाव कर सकते हैं। बता दें कि सोनिया गांधी का अंतरिम अध्यक्ष के तौर पर कार्यकाल पूरा हो चुका है।

कांग्रेस के सूत्रों ने इस बात की पुष्टि की है कि सोनिया गांधी ने अध्यक्ष पद छोड़ने का मन बना लिया है। वहीं, कांग्रेस वर्किंग कमिटी की बैठक कल सोमवार को होने जा रही है।
सूत्रों ने बताया कि यह बैठक संगठनात्मक मुद्दों पर चर्चा करने के लिए बुलाया गया है लेकिन उम्मीद है कि सोनिया गांधी पद छोड़ने की इच्छा जताएंगी और सदस्यों से कहेंगी कि वे खुद अपने पार्टी का नेता चुन लें।

सीडब्ल्यूसी की बैठक में इन मुद्दों पर हो सकती है चर्चा

सूत्रों का कहना है कि इस बैठक में मौजूदा राजनीतिक मुद्दों, अर्थव्यवस्था की स्थिति और कोरोना वायरस संकट समेत कई मुद्दों पर चर्चा हो सकती है।
इसके अलावा पार्टी के नेतृत्व को लेकर भी चर्चा हो सकती है, क्योंकि पिछले कुछ हफ्तों के दौरान कांग्रेस के कई नेता खुलकर राहुल गांधी को एक बार फिर कांग्रेस की कमान सौंपे जाने की मांग कर चुके हैं।

कांग्रेस के 23 नेताओं ने सोनिया गांधी को लिखी चिट्ठी

कांग्रेस के 23 वरिष्ठ नेताओं ने सोनिया गांधी को पत्र लिखकर पार्टी में बड़े बदलाव की मांग की है। पत्र के लिखने वालों में हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री जैसे भूपेंद्र सिंह हुड्डा और महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण, पूर्व केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल और शशि थरूर के साथ-साथ मिलिंद देवड़ा और जितिन प्रसाद जैसे युवा नेता शामिल हैं।

सोनिया गांधी का अंतरिम अध्यक्ष के रूप में एक साल पूरा

बता दें कि कि पिछले साल हुए लोकसभा चुनाव में पार्टी की हार की जिम्मेदारी लेते हुए राहुल गांधी ने पार्टी के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था, जिसके बाद सोनिया गांधी को अंतरिम अध्यक्ष नियुक्त किया गया था। अब सोनिया गांधी अंतरिम अध्यक्ष के तौर पर एक साल की अवधि पूरा कर चुकी हैं।

अमरिंदर सिंह ने कहा- गांधी परिवार इस भूमिका के लिए बिल्कुल उपयुक्त है

मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने कहा है, इस महत्वपूर्ण समय में पार्टी में बदलाव की मांग करने वाले कांग्रेस के इन नेताओं का कदम पार्टी के हितों और राष्ट्र के हितों के लिए हानिकारक होगा। कांग्रेस को ऐसे नेतृत्व की जरूरत है जो केवल कुछ लोगों के लिए नहीं बल्कि समूची पार्टी, समस्त कार्यकर्ताओं और देश के लिए स्वीकार्य हो।
पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने कहा कि गांधी परिवार इस भूमिका के लिए बिल्कुल उपयुक्त है। उन्होंने कहा, सोनिया गांधी जब तक चाहती हैं उन्हें कांग्रेस का नेतृत्व करना चाहिए। इसके बाद राहुल गांधी को पद की जिम्मेदारी संभालनी चाहिए क्योंकि वह पार्टी का नेतृत्व करने के लिए पूरी तरह योग्य हैं।
पंजाब के मुख्यमंत्री ने कहा कि देश सीमा पर बाहरी खतरे का ही सामना नहीं कर रहा बल्कि अपने संघीय ढांचे पर भी आंतरिक खतरे का सामना कर रहा है। एकजुट कांग्रेस ही देश और यहां के लोगों का बचाव कर सकती है।

 

Share the information