GST घोटाला! जालंधर में पूर्व ज्वाईंट डायरेक्टर के घर विजीलैंस की बड़ी रेड, पढ़ें

Prabhat Times
जालंधर। (GST Scam Jalandhar) इस समय की बड़ी खबर जालंधर से आ रही है। राज्य के करोड़ों रूपए के जी.एस.टी. घोटाले के आरोपी एनफोर्समैंट विंग, जालंधऱ डिवीज़न के पूर्व ज्वाईंट डायरेक्टर बी.के. विरदी के जी.टी.बी. नगर स्थित निवास पर विजीलैंस विभाग ने रेड की है।
विजीलैंस टीम ने घर को चारों तरफ से घेर लिया है। लेकिन कानूनी अड़चन के घर के अंदर दाखिल नहीं हो पा रहे हैं। विजीलैंस विभाग को सूचना है कि बी.के. विरदी घर के अंदर मौजूद है, लेकिन उनके परिजनों ने घर को ताला लगा दिया है। ताला न तो खोला जा रहा है और न ही तोड़ा जा सकता है। विजीलैंस टीम द्वारा घर की घेराबंदी की हुई है तथा एक टीम अदालत से सर्च वारंट लेने के लिए गई हुई है।
बता दें कि बीते साल राज्य में करोड़ों के जी.एस.टी. घोटाला सामने आया था। इस मामले में विभाग के बी.के. विरदी समेत राज्य के कई शहरों के अधिकारियों के खिलाफ केस दर्ज किया गया था। मामला हाई प्रोफाईल होने के कारण पिछले महीनों से लग रहा था का मामला ठंडे बस्ते में चला गया है। बताया जा रहा है कि बीते माह बी.के. विरदी को पटियाला हेड क्वार्टर पर अंडर सस्पेंशन ज्वाईन करवाया गया था।
आज सुबह अचानक विजीलैंस को सूचना मिली थी कि बी.के. विरदी अपने जालंधर स्थित निवास पर मौजूद हैं। सूचना मिलते ही जालंधर रेंज के एस.एस.पी. दिलजिन्द्र सिंह ढिल्लों के नेतृत्व में डी.एस.पी. दलबीर सिंह व उनकी टीम ने बी.के. विरदी का घर चारों और से घेराबंदी कर दी।
विरदी के परिजनों ने विजीलैंस टीम को घर के अंदर दाखिल नहीं होने दिया। बताया जा रहा है कि तीखी नोकझोंक भी हुई। परिजनों द्वारा घर के कमरे को ताला लगा दिया है। जिसे न खोला जा रहा है। कानूनी अड़चन के कारण विजीलैंस खुद ताला नहीं तोड़ सकती।
बताया जा रहा है कि विजीलैंस टीम घर की घेराबंदी किए हुए है और एक टीम द्वारा घर के सर्च वारंट लाने के लिए अदालत पहुंच चुकी है। कुछ ही देर बाद इस मामले में विजीलैंस की बड़ी कार्रवाई होने की संभावना है। 
ये भी पढ़ें