Prabhat Times
नई दिल्ली। अगले साल से अब फोन पर बात करने के लिए आपको ज्यादा पैसे खर्च करने पड़ सकते हैं।
वोडाफोन आइडिया (vi) साल के अंत तक या अगले साल की शुरुआत में टैरिफ 15 से 20 प्रतिशत बढ़ाने पर विचार कर रहा है।
खबर के मुताबिक ये कंपनियां अभी नुकसान में चल रही हैं और इसी के चलते टैरिफ में बढ़ोतरी पर विचार किया जा रहा है।
इससे जुड़े एक शख्स ने बताया कि अभी टेलिकॉम कंपनियां रेगुलेटर की तरफ से फ्लोर प्राइस फिक्स करने का इंतजार कर रही हैं।
हालांकि, कंपनियां 25 प्रतिशत टैरिफ बढ़ाना चाहती हैं, लेकिन एक बार में इतना इजाफा संभव नहीं है।
अभी वोडाफोन, एयरटेल और जियो ने पिछले साल टैरिफ की कीमतें बढ़ाईं थीं।
अभी वोडाफोन प्रति यूजर 119 रुपये, एयरटेल 162 रुपये और रिलायंस जियो 145 रुपये प्रति यूजर के हिसाब से चार्ज करते हैं।
वीआई के एमडी रविंदर टक्कर ने साल की दूसरी तिमाही के नतीजों के बाद ही दाम बढ़ाने के संकेत दे दिए थे।
उन्होंने कहा था कि सही समय पर दरें बढ़ाईं जाएंगी, वर्तमान टैरिफ दरें अनिश्चित हैं।
वहीं भारती एयरटेल के सीईओ गोपाल विट्टल ने कहा है कि कीमतों में बढ़ोतरी करने वाला यह पहला ऑपरेटर नहीं होगा, लेकिन यह अपने साथियों को तुरंत फॉलो करेगा, क्योंकि यह भी सहमत है कि वर्तमान दरें अस्थिर हैं।
वहीं एक्सपर्ट्स की मानें तो वोडाफोन के लिए अब टैरिफ के दाम बढ़ाना बहुत जरूरी हो गया है, क्योंकि जल्द ही उसे एजीआर की किस्त का भुगतान करना है।
वोडाफोन 4जी नेटवर्क को मजबूत करने के लिए भी इन्वेस्टमेंट करना चाहती है और इसके लिए कंपनी को पैसों की जरूरत पड़ेगी।

Share the information